अहमदाबादः पिराणा डम्पिंग साइट पर कूड़े के ढेर में दबी बच्ची दो दिन बाद भी नहीं मिली, फायर जवानों की खोजबीन जारी

 203 ,  1 

शनिवार शाम 12 वर्षीय बच्ची अपने 9 वर्षीय छोटे भाई के साथ प्लास्टिक बीन रही थी तभी यह हादसा हुआ

डम्पिंग साइट पर फैली जहरीली गैस के कारण जवानों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा

गुजरात के अहमदाबाद में स्थित पिराणा डम्पिंग साइट पर शनिवार को प्लास्टिक बिनते समय अचानक ढहे कचरे के ढेर में दबी 12 वर्षीय बच्ची का डेढ दिन बीतने के बाद भी कोई पता नहीं चला है। बच्ची को खोजने में स्थानीय प्रशासन और फायरब्रिगेड के 20 जवान तथा पांच से अधिक जीसीबी लगी हुई है। हालाकि डम्पिंग साइट पर फैली जहरीली गैस के कारण जवानों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

जानकारी के मुताबिक पीराणा क्षेत्र में स्थित डम्पिंग साइट कचरे के विशाल ढेर पर शनिवार शाम 12 वर्षीय बच्ची अपने 9 वर्षीय छोटे भाई के साथ प्लास्टिक बीन रही थी। इस दौरान अचानक कचरे का बना पहाड़ डहने लगा। जिसमें दोनों भाई-बहन कचरे के नीचे दब गये। सूचना पाते ही आनन-फानन में पहुंची फायरब्रिगेड की टीम ने कचरे में दबे नौ वर्षीय बालक को सही सलामत बाहर निकाल लिया। हालाकि बच्ची का कोई अता-पता नहीं था। फायरब्रिगेट की टीम शनिवार देर रात तक बच्ची की खोजबीन की लेकिन उसका कोई पता नहीं चला। यह कार्रवाई रविवार पूरे दिन जारी रही लेकिन जवानों को बच्ची को खोजने में कोई सफलता नहीं मिली।

जहरीली गैस से बढा खतरा

फायरब्रिगेड के जवानों ने बताया कि घटना की सूचना मिलने के बाद 20 अधिक जवान स्थल पर पहुंच गये। बच्ची के भाई को सही-सलामत निकाल लिया गया। हालाकि बच्ची का कोई पता नहीं लगा है। डम्पिंग साइट पर कचरो के कारण जहरीली गैस उत्पन्न होती है। जिसके कारण जवानों को भी इसका खतरा है। जहरीली गैस के कारण पूरी सावधानी के साथ तलाशी अभियान शुरु किया गया है। फायर के जवानों द्वारा जल्द ही बच्ची को खोज लिया जायेगा।

बच्ची के बचने की कोई उम्मीद नहीं

गौरतलब है कि घटना शनिवार शाम की है। कूड़े का बना पहाड़ अचानक डह गया और उसमें बच्ची दब गयी। जवानों के मुताबिक घटना के दो दिन बित चुके है लेकिन बच्ची का कोई पता नहीं चल पाया है। बच्ची के बचने की कोई उम्मीद नहीं दिखाई दे रही है। कूडे से उत्पन्न हो रही जहरीली गैस से दम घुटने से बच्ची की मौत हो गई होगी। फिलहाल फायर ब्रिगेड के जवानों द्वारा खोजबीन की जा रही है।

दिलचस्प

राजनीति

व्यापार