बलिया गोलीकांड का मुख्य आरोपी धीरेंद्र ने खुद को बताया निर्दोष, पुलिस ने रखा 25 हजार का इनाम

 119 ,  1 

 बलिया गोलीकांड का मुख्य आरोपी अब तक फरार, पुलिस कर रही है छापेमारी

यूपी के बलिया जिले के रेवती में हुए गोलीकांड मामले में पुलिस ने दो और आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है. इनमें से एक आरोपी बीजेपी नेता का भाई है. हालांकि, मुख्य आरोपी अभी भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है. वहीं, पांच अन्‍य लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है. इस बीच, मुख्‍य आरोपी का एक वीडियो वायरल हुआ है जिसमें उसने खुद को निर्दोष बताते हुए प्रशासन पर गंभीर आरोप लगाए हैं. अपर पुलिस अधीक्षक संजय यादव ने बताया कि पुलिस ने शुक्रवार को एक आरोपी देवेंद्र प्रताप सिंह को गिरफ्तार कर लिया है. इससे पहले पुलिस ने धीरेंद्र प्रताप सिंह के भाई नरेन्द्र प्रताप सिंह को गिरफ्तार किया था. उन्होंने बताया कि आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस छापेमारी कर रही है.

आरोपी धीरेंद्र का वीडियो वायरल, बताया बेकसूर

रेवती कांड के मुख्य आरोपी धीरेंद्र प्रताप सिंह ने खुद को निर्दोष करार दिया है. धीरेंद्र ने दावा किया है कि गुरुवार की घटना में उसके परिवार के एक व्यक्ति की भी मौत हो गई है जबकि आधा दर्जन लोग घायल हैं. धीरेंद्र ने सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर शुक्रवार को जारी वीडियो में खुद को पूर्व सैनिक संगठन का अध्यक्ष करार दिया है. उसने घटना को पूर्व नियोजित करार देते हुए कहा कि उसने आवंटन के लिये बैठक शुरू होते ही उप जिलाधिकारी, पुलिस उपाधीक्षक व अन्य अधिकारियों से बवाल होने की संभावना जताई थी, लेकिन अधिकारियों ने उसकी बात पर कोई ध्यान नही दिया. धीरेंद्र ने कहा कि अधिकारियों की मौजूदगी में उसके 80 वर्षीय वृद्ध पिता व भाभी पर हमला किया गया. हमलावर लाठी डंडे व अवैध असलहा से लैस थे.

धीरेंद्र ने दावा किया कि इस घटना में उसके परिवार के एक व्यक्ति की मौत हो गई है तथा एक व्यक्ति की हालत नाजुक बनी हुई है. घटना में उसके पक्ष के 8 से अधिक लोग घायल हुए हैं. धीरेंद्र ने कहा है कि उसे जानकारी नहीं है कि जयप्रकाश पाल गामा की मौत किसकी गोली लगने से हुई है? धीरेंद्र ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मामले की सही जांच व न्याय की मांग की है.

कई पुलिसकर्मी सस्पेंड

इस सनसनीखेज हत्याकांड में एडीजी के निर्देश पर पुलिस अधीक्षक (एसपी) ने तीन सब इंस्पेक्टर, पांच कॉन्स्टेबल और दो महिला कॉन्स्टेबल को सस्पेंड किया है. दस पुलिसवालों के खिलाफ निलंबन की कार्रवाई से हड़कंप मचा हुआ है.  

दिलचस्प

राजनीति

व्यापार