यूपी में दुर्गा पूजा के आयोजन पर रोक, शर्तों के साथ रामलीला मंचन: सीएम योगी आदित्यनाथ

 20 ,  1 

कोरोना संक्रमण के बढ़ते खतरे के बीच उत्तर प्रदेश सरकार ने दुर्गा पूजा के आयोजन को लेकर बड़ा फैसला किया है. कोराना महामारी के चलते राज्य में दुर्गा पूजा के सार्वजनिक आयोजन पर रोक रहेगी. इसके अलावा कोई भी सार्वजनिक आयोजन सड़कों या पांडालों में नहीं होगा. राज्य सरकार का कहना है कि लोग अपने घरों में दुर्गा प्रतिमा की स्थापना कर सकते हैं.

इससे पहले राज्य सरकार ने मोहर्रम पर भी ताजिये निकालने पर प्रतिबंध लगाया था. गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण का कहर जारी है. प्रतिदिन औसत तीन से चार हजार केस आ रहे हैं. इसके चलते राज्य सरकार हर स्तर पर एहतियात बरत रही है.

वहीं, दुर्गा पूजा के आयोजन पर सरकार की रोक की मंशा यही है कि भीड़ न बढ़े और महामारी को नियंत्रित किया जा सके. सरकार जनता से लगातार अपील कर रही है कि सार्वजनिक जगहों पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें और बाहर निकले तो मास्क लगाकर रखें.

शर्तों और कोरोना गाइडलाइंस के अनुरूप होगा रामलीला का मंचन
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि दशहरा पर रामलीलाओं के मंचन की परंपरा नहीं टूटेगी. रामलीला का मंचन किया जा सकेगा, लेकिन शर्त रहेगी कि वहां 100 से ज्यादा दर्शक नहीं होंगे. कोविड 19 के संक्रमण के मद्देनजर सोशल डिस्टेंसिंग का सख्ती से पालन किया जाएगा. योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सेनिटाइजेशन, मास्क और हाथ धोने के निर्देशों का सख्ती से पालन करना होगा.

दुर्गा पूजा के सार्वजनिक आयोजन पर रहेगी रोक
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सड़क पर कोई भी आयोजन नहीं होगा, न ही कोई जुलूस नहीं निकाला जाएगा. उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी की वजह से मेले भी नहीं लगेंगे. यही नहीं, इस बार दुर्गा पूजा का आयोजन भी सार्वजनिक तौर पर नहीं होगा, बल्कि लोग अपने घरों में दुर्गा प्रतिमाएं स्थापित कर पूजन-अर्चन कर सकते हैं.

दिलचस्प

राजनीति

व्यापार