कंगना रनौत के खिलाफ FIR दर्ज करने का आदेश, धर्म के आधार पर नफरत फैलाने का आरोप

 218 ,  1 

कंगना रनौत पर कसा शिकंजा, बांद्रा कोर्ट ने FIR दर्ज करने के आदेश दिए

बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत एक बार फिर चर्चा में हैं और उनकी मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं. कर्नाटक में एफआईर दर्ज होने के बाद अब मुंबई की बांद्रा कोर्ट ने अभिनेत्री कंगना रणौत के खिलाफ सांप्रदायिक नफरत फैलाने के आरोप में एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, मुन्ना वराली और साहिल अशरफ सैयद नाम के याचिकाकर्ताओं ने अदालत में एक याचिका दायर की गई थी, जिसमें कंगना के ट्वीट को भड़काऊ बताते हुए उनपर एफआईआर दर्ज करने की मांग की गई थी.

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो याचिका में आरोप लगाया गया है कि कंगना अपने ट्वीट और टीवी चैनलों पर इंटरव्यू के जरिए हिन्दू और मुस्लिम कलाकारों के बीच खाई पैदा कर रही हैं. कोर्ट के इस आदेश और एफआईर दर्ज होने के बाद कंगना की मुसीबत और बढ़ सकती है.

इससे पहले 13 अक्टूबर को कनार्टक पुलिस ने हाल में केंद्र सरकार की ओर से पारित कृषि कानूनों का विरोध करने वाले लोगों पर कंगना की टिप्पणी को लेकर उनके खिलाफ एक मामला दर्ज किया था. तुमाकुरु पुलिस ने कोर्ट के आदे पर यह मामला दर्ज किया. दरअसल, वकील रमश नायक ने हाल में ट्विटर संदेश में दिये गये कंगना के पोस्ट के खिलाफ शिकायत दर्ज कराते हुए कहा है कि इससे उनकी भावनाएं आहत हुई और इसके लिए अभिनेत्री के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए.

गौरतलब है कि कंगना ने 21 सितंबर को जारी अपने ट्वीट में कहा था कि जिन लोगों ने नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) का विरोध किया था वही लोग कृषि कानूनों का विरोध कर देश में आतंक का माहौल कायम करना चाहते हैं. तुमाकुरु न्यायालय के निदेर्श पर कंगना के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है

दिलचस्प

राजनीति

व्यापार