अंकिता हत्याकांड मामले में सीएम धामी ने दिया SIT जांच का आदेश

 86 ,  2 

सीएम ने कहा दोषियों को दिलाएंगे कड़ी से कड़ी सजा

उत्तराखंड में रिसेप्स्निस्ट अंकिता हत्याकांड को लेकर सीएम पुष्कर सिंह धामी ने सख्त रुख अपनाया है। इस मामले में एसआईटी (एसआईटी) का गठन किया गया है। यह निर्देश सीएम ने दिया है। बता दें कि राज्य आपदा मोचन बल यानी एसडीआरएफ को चीला नहर के पास पीड़िता का शव मिला था। आरोपियों ने पीड़िता की हत्या कर चीला नहर में उसका शव फेंक दिया था।

पुलिस ने बताया कि इस घटना के खुलासे के बाद SDRF टीम ने शक्ति नहर चिल्ला पावर हाउस में सर्च ऑपरेशन चलाया। इस काम में SDRF डीप डाइवर्स को भी लगाया गया था। आज सुबह SDRF की रेस्क्यू टीम और डीप डाइवर्स ने पुनः सर्च आपरेशन शुरू किया। राफ्ट के द्वारा की जा रही सर्चिंग के दौरान SDRF की टीम चिल्ला पावर हाउस से एक युवती का शव बरामद कर जिला पुलिस को सुपुर्द किया गया है। शव की शिनाख्स के लिए अंकिता भंडारी के परिजनों को बुलाया गया था। परिजनों ने शव की शिनाख्त कर ली है।

मुख्यमंत्री ने कहा, इस हृदय विदारक घटना से मन अत्यंत व्यथित है। दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा दिलाने के लिए पुलिस उपमहानिरीक्षक पी. रेणुका देवी जी के नेतृत्व में SIT का गठन कर इस गंभीर मामले की गहराई से जांच के भी आदेश दे दिए हैं।

पुलिस ने इस मामले में बीजेपी नेता के बेटे पुलकित आर्य सहित तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। सभी को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। पुलिक आर्य ही उस रिजार्ट का संचालक था, जहां अंकिता काम करती थी। युवती के लापता होने के बाद से रिजार्ट संचालक और मैनेजर फरार हो गए थे।