भारत में कोरोना वायरस ने किया पहला शिकार, कोलकाता मे थाइलैंड की महिला की मौत

दुनिया भर में हाहाकार मचाने वाले कोरोना से भारत में पहली मौत हो गई है। कोलकाता में भर्ती थाईलैंड की युवती की इससे मौत हो गई। विभिन्न राज्यों में संदिग्ध मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। हवाई अड्डों पर यात्रियों की जांच के लिए टीमें गठित कर दी गई हैं और अस्पतालों में विशेष प्रबंध किए गए हैं।

चाइन में कोराना वायरस की चपेट में आने से अभी तक 100 से अधिक लोगों की मौत हो गई है। इसकी चपेट में 1 हजार से अधिक है। उनका उपचार किया जा रहा है। चाइना में यह वायरस तेजी से फैल रहा है। वैज्ञानिकों ने अभी तक इस बीमारी को काबू में करने के लिए कोई वेक्सीन की खोज नहीं की है। बताया जाता है कि यह वायरस बिल्ली या चमगादड़ से फैल रहा है। फिलहाल इसकी अधिकारिक रुप से कोई पुष्टी नहीं हुई है। लेकिन जिस तरह से यह फैल रहा है यह जरुर चिंता का विषय है।

भारत में इस बीमारी से पहली मौत हो गई। थाईलैंड निवासी युवती को तीन दिन पहले कोलकाता के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां सोमवार को उसकी मौत हो गई। हालांकि उसकी मौत कोरोना वायरस से ही हुई है या नहीं, इसकी जांच की जा रही है।

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में राममनोहर लोहिया अस्पताल (आरएमएल) में भर्ती तीन संदिग्ध मरीजों के खून के नमूने जांच के लिए पुणे स्थित राष्ट्रीय वायरोलॉजी संस्थान भेज दिया गया है। अस्पताल की चिकित्सा अधीक्षक डॉ. मीनाक्षी भारद्वाज के मुताबिक सोमवार को भर्ती इन मरीजों में एक गाजियाबाद जबकि दो दिल्ली के निवासी हैं। तीनों चीन से आए थे।

चाइना में फंसे गुजरात के 100 से अधिक छात्रों को भारत लाने की तैयारी

चीन के साथ दुनिया के कई देशों में हाहाकार मचाने वाले कोरोना वायरस से गुजरात के छात्रों को बचाने के लिए राज्य सरकार ने कदम उठाये हैं। मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने चाइना गये गुजरात के 100 छात्रों को भारत लाने की तैयारी की है। मुख्यमंत्री ने इसके लिए विदेश मंत्री एस जयशंकर से फोन पर बात की है।

मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने विदेश मंत्री एस जंयशकर फोन कर बताया कि है कि गुजरात के कई छात्र चाइना में अभ्यास के लिए गए हुए हैं। चाइना में कोरोना वायरस का कहर है। इस वजह छात्रों के अभिभावकों को उनकी चिंता सता रही है और उन्हें भारत लाने की अपील की जा रही है। सरकार को जल्द से जल्द इन छात्रों को भारत लाने के लिए उचित कदम उठाने चाहिए।

दिलचस्प

राजनीति

व्यापार