भारत की पहली कोरोना वायरस की वैक्सीन COVAXIN बनकर तैयार, जुलाई से इंसानों पर ट्रायल

 97 ,  4 

भारत के पहले Covid-19 वैक्सीन कैंडिडेट को मानव परीक्षण के पहले और दूसरे चरण की मंजूरी मिल गई है। भारत बायोटेक ने भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) और राष्ट्रीय विषाणुविज्ञान संस्थान (INV) के साथ मिलकर इस वैक्सीन कैंडिडेट Covaxin का विकास किया है।

दवा नियामक सेंट्रल ड्रग्स स्टैंडर्ड कंट्रोल ऑर्गेनाइजेशन (सीडीएससीओ) और स्वास्थ्य व परिवार कल्याण मंत्रालय ने इस स्वदेशी वैक्सीन के पहले और दूसरे चरण के मानव क्लीनिकल परीक्षण की मंजूरी दे दी है। मानव परीक्षण अगले महीने शुरू होंगे। वैक्सीन कैंडिडेट को बनाने के लिए एनआईवी, पुणे में आइसोलेट कोरोना वायरस स्ट्रेन को भारत बायोटेक को ट्रांसफर किया गया था।

भारत बायोटेक के चेयरमैन व एमडी डॉ. कृष्णा ईल्ला ने कहा, ‘हमें Covid-19 के भारत के पहले स्वदेशी वैक्सीन Covaxin की घोषणा करते हुए गर्व हो रहा है। इसे तैयार करने में आइसीएमआर और एनआईवी का सहयोग उल्लेखनीय रहा। सीडीएससीओ का सकारात्मक नजरिया इसके परीक्षण की मंजूरी दिलाने में सहायक रहा।’ कोविड-19 की वैक्सीन तैयार करने के लिए पूरी दुनिया में कोशिशें चल रही हैं। अभी तक किसी को सफलता नहीं मिली है। हालांकि, कुछ कंपनियों वैक्सीन के मानव परीक्षण के चरण में पहुंच गई हैं।

दिलचस्प

राजनीति

व्यापार