चांदीगढ़ मे गर्ल्स पीजी में लगी, तीन लड़कियां जिंदा जली, एक ने बिल्डिंग से लगाई छलांग

चंदीगढ़ शहर के सेक्टर-32 में आज दोपहर के समय एक घर में आग लग गई। इस आग में तीन लड़कियों के झुलसने से दर्दनाक मौत हो गई। आग से बुरी तरह जली लड़कियों को गंभीर हालत में अस्पताल पहुंचाया गया। जहां तीनों लड़कियों ने दम तोड़ दिया। आग में जली लड़कियों के नाम रिया,पाखी और मुस्कान बताया जा रहा है।

एक लड़की ने जब आग लगी तो पहली मंजिल से छलांग लगाकर अपनी जान बचाई। घायल लड़की का इलाज अस्पताल में चल रहा है। आग लगने की सूचना मिलने पर मौके पर दमकल विभाग की पांच गाड़ियों ने पहुंची और आग पर काबु पाने के लिए कार्रवाई शुरू कर दी है। आग काफी भीषण लगी हुई थी।

बताया जा रहा है कि पीजी में लोगों ने अचानक धुंआ उठता हुआ देखा। इसकी सूचना लोगों ने पुलिस को दी। मौके पर फायर ब्रिगेड की टीम व पुलिस पहुंची और आग बुझाने का काम शुरू किया। अंदर जाकर देखा तो वहां पांच लड़कियां बुरी तरह झुलसी हुई अवस्था में पड़ी थी। जीएमसीएच 32 अस्पताल में ले जाया गया,

जहां तीन लड़कियों की इलाज के दौरान मौत हो गई, जबकि दो अन्य लड़कियों की हालत गंभीर बनी हुई है। मरने वाली लड़की मुस्कान हरियाणा के हिसार व रिया और पंछी पंजाब के कोटकपूरा की रहने वाली थीं। लड़कियों की उम्र 18 से 22 वर्ष के बीच बताई जा रही है। 

पीजी में लगभग 25 बच्चों के रहने की व्यवस्था है, लेकिन अभी यहां चार-पांच लड़कियां ही रह रही थीं। आग कैसे लगी अभी इसके कारणों का पता नहीं चल पाया है। बताया जा रहा है कि यह पीजी रजिस्टर्ड नहीं है। यहां अवैध रूप से पीजी चलाया जा रहा था।

गौरतलब है कि बीते साल सूरत के भी एक कोचिंग सेन्टर में आग लग गई थी। जिसमें 24 से अधिक छात्र-छात्राओं की मौत हो गई थी। छात्रों ने भी इसी तरह बिल्डींग से कूद कर जान बचाई थी। उस समय छात्रों को आग की लपटों से बचाने के लिए फायर जवानों के पास किसी तरह की आधुनिक सीडी या साधन नहीं थे। जिसके कारण इतने बच्चों को अपने जान से हाथ धोना पड़ा था।

दिलचस्प

राजनीति

व्यापार