September 28, 2022
September 28, 2022
Menu

गुजरातः सरकार ने वापस लिया मवेशी नियंत्रण विधेयक

 71 ,  2 

मालधारी समाज के भारी विरोध चलते निर्णय लिया

गुजरात विधानसभा में बुधवार को मवेशी नियंत्रण विधेयक सर्वसम्मति से वापल ले लिया गया है। राज्यपाल की ओर से विधेयक को पुनःविचार के लिए वापस भेजा गया था। इसके बाद आज विधानसभा गृह से इस बिल को वापस ले लिया गया है। उल्लेखनीय है कि आज सुबह से ही मालधारी समाज की ओर से दूध की बिक्री बंद कर जगह-जगह विरोध प्रदर्शन किया।

राज्य सरकार के प्रवक्ता जीतू वाघाणी ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस को आज हमने बार-बार कहा कि गृह के कामकाज में हिस्सा ले और चर्चा करें। लेकिन कांग्रेस का व्यवहार नकारात्मक रहा है। गुजरात की जनता उन्हें पहचान गई है। कांग्रेस की जनता विरोधी मानसिकता उजागर हुई है। कई लोगों को चुनाव निकट आने पर प्रश्न याद आते है। इसमें कांग्रेस का भी नंबर आता है। हम संवाद में मानते है। सभी को ध्यान में रखकर गुजरात सरकार ने निर्णय लिया है। उन्होंने यह भी कहा कि जब से बिल पास हुआ उस दिन से ही मुख्यमंत्री इसको लेकर संवेदनशील थे। वहीं मालधारी समाज के बारे में विचार कर रहे थे। आज विधेयक को वापस ले लिया है।

उल्लेखनीय है कि मालधारी समाज की ओर से आज दूध की हड़ताल की गई थी। उन्होंने चेतावनी दी थी कि हमारी मांगे नहीं मानी जाएगी तब तक आंदोलन जारी रहेगा। ऐसे में राज्य में कल दोपहर के बाद लोगों में हड़कम्प मच गया था। हालाकि बुधवार को दूध नहीं मिलेगा। इसके कारण अधिकांश लोगों ने मंगलवार को ही बुधवार के लिए दूध स्टोर कर लिया था। हालाकि आज सुबह दूध नियमित मिल रहा था। राज्य के अधिकांस शहरों में दूध की बिक्री हुई।