मुंबई में भारी बारिश का संभावना, प्रशासन को किया गया अलर्ट

 164 ,  12 

मौसम विभाग ने अगले चार दिनों तक मुंबई में भारी बारिश की आगाही की

मौसम विभाग ने अगले चार दिनों तक मुंबई और कोंकण समेत महाराष्ट्र के कई इलाकों में मूसलाधार बारिश का अंदेशा जताया है, और इसे लेकर एलर्ट जारी किया है। मौसम विभाग के मुताबिक 9 से 12 जून तक कुछ इलाकों में 300 मिलीमीटर से अधिक बारिश हो सकती है। राज्य सरकार ने सभी जिलाधिकारियों और स्थानीय प्रशासन से अत्यधिक सावधानी बरतने का निर्देश दिया है।

धर मुंबई में मंगलवार सुबह से बरसात हो रही है। कई इलाकों में घने बादल छाये हुए हैं और रात भर रिमझिम फुहारें पड़ी हैं। भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने इसे मॉनसून से पहले की बारिश बताया है। क्षेत्रीय मौसम विज्ञान विभाग के मुताबिक सुबह 11 बजे तक यहां मालवणी, बोरीवली और दहिसर जैसे इलाकों में 30 मिमी तक बारिश दर्ज की गई। वैसे मॉनसून तटीय रत्नागिरी जिले में हरनाई बंदरगाह तक पहुंच गया है, और उसे मुंबई पहुंचने में एक-दो दिन ही लगेंगे।

मुख्यमंत्री ने दिये तैयारी रखने के निर्देश

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने बारिश की चेतावनी को देखते हुए रविवार को ही मुंबई महानगर क्षेत्र, कोकण के सभी जिलों के आपत्ति प्रबंधन विभाग के साथ बैठक की और तमाम निर्देश दिये।

  • जर्जर हो चुकी इमारतों, भू-स्खलन के खतरों वाली जगहों और जल्दी पानी भर जाने वाली जगहों के आस-पास बसे नागरिकों को जरूरत पड़ने पर सुरक्षित स्थानों पर ले जाने की तैयारी की जाए।
  • कोरोना अस्पतालों का खास खयाल रखने का आदेश दिया गया है।
  • ज़रूरत पड़ने पर मदद के लिए तटरक्षक दलों और नौसेना को तैयार रहने की सूचना दी जाए।
  • समुद्री किनारे की पट्टियों के आस-पास रह रहे लोगों को प्रशासन पूरी तरह अलर्ट रखे।
  • जिले के संरक्षक मंत्री जिला आपदा प्रबंधन विभाग के साथ बैठक करें और संभावित मदद कार्यों की रूपरेखा निश्चित करें।
  • मुंबई में खास तौर पर इसकी तैयारी की जाए कि जहां-जहां पानी जमा होते हैं, वहां से पानी कैसे तुरंत निकल जाए। गटरों और होल्स के ढक्कन खुले ना रहें।
  • अत्यधिक बरसात होने पर बिजली सप्लाई में रूकावटें आ सकती हैं। ऐसे में खासतौर पर अस्पतालों में वैकल्पिक तैयारियों का ध्यान रखा जाए।
  • खास कर कोरोना के इलाजवाले अस्पतालों में पानी ना घुसे और डीजल, ऑक्सीजन आदि की पर्याप्त मात्रा रहे, इनका ध्यान रहे।

उधर, अत्यधिक बरसात के खतरों को ध्यान में रखते हुए रत्नागिरी जिले में 11 और 12 जून को कर्फ्यू लागू किया गया है। मौसम विभाग ने यहां 10 जून को मूसलाधार और अगले दो दिन अति मूसलाधार बरसात का अनुमान जताया है।

दिलचस्प

राजनीति

व्यापार