RBI Monetary Policy: ब्याज दरों में नहीं हुआ कोई बदलाव, रेपो रेट 4 प्रतिशत पर बरकरार

 56 ,  2 

मौद्रिक नीति की समीक्षा के दौरान आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने घोषणा की है कि ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया जाएगा और रेपो रेट 4 प्रतिशत पर बरकरार रखा गया है. वहीं, रिवर्स रेपो रेट 3.5 फीसदी पर बरकरार है.

आरबीआई गर्वनर शक्तिकांत दास ने कहा कि MPC ने वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए Accommodative  रुख तब तक कायम रखने का निर्णय लिया जब तक कोरोना से उत्पन्न स्थितियां समान्य नहीं हो जाती.

गौरतलब है कि देश में खुदरा महंगाई दर लंबे समय से अपने 4 फीसदी के मीडियम टर्म टार्गेट के ऊपर बनी हुई है. अप्रैल में खुदरा महंगाई 4.29 फीसदी पर थी जबकि मार्च में यह 5.52 फीसदी पर थी. दूसरी तरफ ग्रोथ को लेकर बढ़ी चिंता बनी हुई है.

वित्त वर्ष 2021 में जीडीपी में 7.3 फीसदी का संकुचन को देखने को मिला है. अपनी पिछली पॉलिसी रिव्यू में आरबीआई ने  वित्त वर्ष 2022 के लिए जीडीपी ग्रोथ अनुमान 4.5 फीसदी पर बनाए रखा था. हालही में एसबीआई के अर्थशास्त्रियों ने वित्त वर्ष 2022 के अपने जीडीपी ग्रोथ अनुमान को 10.4 फीसदी से घटाकर  7.9 फीसदी पर कर दिया है.

आज पॉलिसी जारी करते हुए शक्तिकांता दास ने कहा कि शहरी डिमांड में कमजोरी और ग्रामीण इलाकों में कोरोना के  फैलाव के चलते जीडीपी ग्रोथ पर नकारात्मक असर देखने को मिल सकता है.

बता दें कि आरबीआई ने फरवरी 2019 से अब तक अहम ब्याज दर में 250 बेसिस प्वाइंट यानी 2.50 फीसदी की कटौती की है.

दिलचस्प

राजनीति

व्यापार