वडोदरा से गिरफ्तार आंतकी ने किया खुलासा, हिन्दु नेताओं की हत्या का था प्लान

 19 ,  1 

गुजरात आतंकवाद निरोध दस्ता द्वारा दो दिन पहले पकड़ा गया आईएसआईएस का आतंक वादी जफर अली की पुछताछ में कई महत्वपूर्ण खुलासे हुए है। एटीएस के मुताबिक इन आतंकियो ने कई हिन्दू नेताओं की हत्या करने का प्लान बनाया था। इसके लिए ये अलग-अलग शहरों में नेटवर्क तैयार कर रहे हैं थे। इनका काम युवाओं का ब्रेनवोश कर हिन्दु नेताओं की हत्या करने का प्लान था।

गुजरात एटीएस के मुताबिक दिल्ली व गुजरात के वड़ोदरा के गोरवा क्षेत्र में गिरफ्तार आतंकी की पुछताछ के बाद सूरत और भरुच में पांच लोगों को हिरासत में लिया गया है। सामने आया है कि जफर अली ने इन युवकों का संपर्क किया था। वह इन युवकों का ब्रेन वोश कर रहा है।

सुरक्षा एजैंसियों के गिरफ्तार आतंकवादी भारत में आईएसआईएस का नेटवर्क तैयार कर रहे है। इन टार्गेट में कई हिन्दु नेता थे। ये सभी देश में बड़ा हमला करने की तैयारी कर रहे थे।

दस दिन पहले ही वडोदरा आया था आतंकी

दिल्ली पुलिस की स्पेशियल सेल द्वारा आईएसआईएस के तीन आंतकियों के गिरफ्तार करने के बाद गुजरात एटीएस ने भी वड़ोदरा शहर से आईएसआईएस के एक आंतकवादी को गिरफ्तार किया था । मूल तमिलनाडु निवासी जफर अली उर्फ उमर नामक आंतकी को वड़ोदरा के गौरवा क्षेत्र से पकड़ लिया गया।

दिल्ली मे गिरफ्तार आतंकियों से मिले सुराग के बाद उसे वड़ोदरा से पकड़ा गया है। लआतंकी जफर अली तमिलनाडु के एक केस में भी मोस्ट वोन्टेड है। वह दस दिन पहले ही वड़ोदरा आया था और गोरवा क्षेत्र में किराये के मकान में रहता था।

आतंकी वड़ोदरा व जंबुसर के कई लोगों के संपर्क में होने की बात सामने आयी है। वह वड़ोदरा में बड़ी साजिश को अंजाम देनेवाला था। भरुच में वह आईएसएस के लिए काम कर रहा था।

वड़ोदरा पुलिस आयुक्त अनुपम सिंह गेहलोत ने बताया कि गुजरात एटीएस की टीम एक व्यक्ति की खोज में यहां आयी थी। उसे पकड़ कर अहमदाबाद एटीएस कार्यालय ले जाया गया है। आसपास के लोगों से स्थानीय पुलिस ने पुछताछ की है।

जिसमें पता चला है कि आतंकी जफर अली जिस मकान से पकड़ा गया, उसमें दो लोग रहते थे। अलीजफर को स्थानिकों ने देखा भी नहीं है। स्थानिकों के मुताबिक वह घर से बाहर नहीं निकलता था।

दिलचस्प

राजनीति

व्यापार